Tuesday, 29 May 2012

मायने

कोई भी दूर तक साथ में नहीं चलता , 
करवों में अक्सर लोग बदल जाते हैं |
मायने  ज़िंदगी के होते हैं आसान बहुत ,
इश्क हों जाये तो मुश्किल से नज़र आते हैं |

No comments:

Post a comment